प्रसिद्ध कष्टभंजन हनुमान मन्दिर, सारंगपुर, गुजरात (Kashtabhanjandev Hanuman Mandir, Sarangpur, Gujarat)

हनुमानजी के क्रोध से बचने के लिए शनि ने धरा स्त्री का रूप
पुणे के प्रसिद्ध शनि मन्दिर शिंगणापुर में महिलाओं की एंट्री को लेकर विवाद हो रहा है। लेकिन, एक पौराणिक कथा के अनुसार शनि देव ने हनुमान जी के गुस्से से बचने के लिए एक बार स्त्री वेश धारण किया था। इस पौराणिक कथा के आधार पर भावनगर, गुजरात के सारंगपुर स्थित प्रसिद्ध कष्टभंजन हनुमान मन्दिर का निर्माण हुआ है। मान्यता है कि यहां दर्शन करने से शनि ग्रह का प्रकोप दूर हो जाता है।
हनुमान ने अपने बाल रूप में ही सूर्यदेव को निगल लिया था उन्होंने राक्षसों का वध किया। संजीवनी बूटी लाकर लक्ष्मण के प्राण बचाएं। इसलिए हनुमानजी को कष्टभंजन कहा जाता है। एक बार शनि के प्रकोप से लोग खूब परेशान हो रहे थे। वे हनुमानजी के पास पहुंचे और अपनी पीड़ा बताई। हनुमानजी ने शनि को दंड देने की ठान ली। यह जानकारी जैसे ही शनि के पास पहुंची तो वे डर गए और हनुमानजी से बचने के लिए उन्होंने स्त्री का रूप धारण कर लिया। वे जानते थे कि हनुमानजी बाल ब्रह्मचारी थे और वे स्त्री पर हाथ नहीं उठाएंगे। ऐसा ही हुआ। हनुमानजी ने शनि को दंड देने से इनकार कर दिया। बाद में भगवान राम के कहने पर हनुमानजी ने स्त्री रूपी शनि देव को दंडित किया। इस पौराणिक घटना पर इस मन्दिर का निर्माण हुआ है। यहां पर हनुमानजी की भव्य प्रतिमा है और उनके चरणों में शनि स्त्री रूप धारण किए अपने प्राणों की रक्षा की गुहार लगा रहे है।
मन्दिर का गर्भ गृह राजदरबार जैसा लगता है। हनुमानजी को यहां महाराजाधिराज के रूप में पूजा जाता है। वे जिस सिंहासन पर विराजते है वह 45 किलो सोने और 95 किलो चांदी से बमन्दिर दिनभर खुला रहता है।है। पास ही सोने की गदा रखी है। मूर्ति के चारों ओर वानरों की मूर्तियां उकेरी गई है। इस मन्दिर की स्थापना के बारे में कहा जाता है कि करीब दो सदी पहले भगवान स्वामी नारायण इस स्थान पर सत्संग कर रहे थे। उन्हें हनुमान ने स्त्री रूप धारण किए शनि को सजा देते हुए दिव्य रूप में दर्शन दिए। इसके आधार पर स्वामी नारायण के भक्त गोपालानंद स्वामी ने यहां इस सुंदर प्रतिमा की स्थापना करवाई। इस मंदिर में वैसे तो रोजाना ही भक्तों का तांता लगा रहता है लेकिन मंगलवार और शनिवार को यहां भक्त की संख्या बढ़ जाती है।


मन्दिर में दर्शन का समय:
सुबह 5:30 बजे से दोपहर 12 बजे तक
शाम 3:15 से रात 9 बजे तक

Kashtabhanjandev Hanuman Mandir,Gujarat on Google Map


कैसे पहुंचें (How To Reach)

नजदीकी रेलवे स्टेशन भावनगर :75 किमी
नजदीकी एयरपोर्ट:अहमदाबाद 156 किमी
सडक़ मार्ग :सारंगपुर में बस स्टेशन हैं जहां विभिन्न शहरों से बस सेवाएं उपलब्ध है। भावनगर से टैक्सी एवं बस से यहां पहुंचा जा सकता है।

Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts