भीमतल महादेव मंदिर,झरना, बूंदी, राजस्थान (Bhimlat Mahadev Temple & Waterfall, Bundi, Rajasthan)

यहां भीम ने ऐसा पैर मारा की जमीन से फूट पड़ी जलधारा
भीमतल महादेव मंदिर, बूंदी, राजस्थान

राजस्थान का नाम आते ही जहन में रेगिस्तान की कल्पना मन में हिलोरे मारने लगती है, लेकिन ऐसा नहीं है। राजस्थान में बहुत ही खूबसूरत और रमणीक स्थल भी जहां आपके मन का सकून मिलेगा। ऐसी ही जगह है भीमतल।

भीमतल राजस्थान के बूंदी जिले में बिजौलिया मार्ग पर स्थित है। यहां पर प्राचीन भीमतल महादेव का मंदिर है। यह मंदिर जमीन से कुछ नीचे स्थित और वहां तक सीढ़ियों से पहुंचा जा सकता है। इस मंदिर की खासियत यहां अनवरत रूप से शिव का अभिषेक होना है।

दरअसल, इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि महाभारत काल में पांडव यहां अज्ञातवास के दौरान आए थे। इस दौरान पीने के पानी का इंतजाम करने के लिए भीम ने अपने पैर को जमीन पर मारा तो वहां जलधारा फूट पड़ी। यह जलधारा आज भी बह रही है। इस कारण इस स्थान को भीमतल कहा जाता है। उसके बाद यहां शिव परिवार की स्थापना की गई।

बारिश के दौरान यहां आसपास झरने बहते है, जो रमणीयता का अहसास कराते है। सावन में यहां सुरभ्य वातावरण हो जाता है। हालांकि यहां आसपास रात्रि विश्राम के लिए कोई धर्मशाला या होटल नहीं है। वन विभाग का एक गेस्टहाउस जरूर है।



मन्दिर में दर्शन का समय:
मन्दिर में दर्शन सूर्य उदय से सूर्य अस्त तक किए जा सकते हैं।

Bhimlat Mahadev Temple & Waterfall, Bundi, Rajasthan , on Google Map

कैसे पहुंचें (How To Reach)

सड़क: बिजौलिया 21 Km

रेलवे स्टेशन: बूंदी 39 KM
अपने स्वयं के वाहन से जाना उचित होगा ।


Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts