श्रीकृष्ण के प्रति रानी का लगाव देख जयपुर महाराजा ने बरसाना में बनवाया दिया भव्य मन्दिर

मन्दिर का निर्माण भरतपुर में स्थित बंसी पहाड़पुर से पत्थर लाकर करवाया गया। मन्दिर का निर्माण 14 साल में पूरा हुआ था। यह मन्दिर वर्ष 1813 में बनकर तैयार हुआ था।

श्री कुशाल बिहारी जी का मन्दिर, बरसाना, मथुरा, उत्तरप्रदेश (Mandir Shri Kushal Bihari Ji, Barsana,Mathura, Uttar Pradesh)

जयपुर रियासत के महाराजा सवाई माधोसिंह ने अपनी पटरानी कुशाल कंवर की स्मृति में भगवान श्रीकृष्ण और राधा को समर्पित भव्य मन्दिर मथुरा के बरसाना में बनवाया। यह मन्दिर अपनी स्थापत्य शैली के लिए फेसम है। इस मन्दिर का निर्माण भरतपुर में स्थित बंसी पहाड़पुर से पत्थर लाकर करवाया गया। मन्दिर का निर्माण 14 साल में पूरा हुआ था। यह मन्दिर वर्ष 1813 में बनकर तैयार हुआ था।

महाराजा सवाई माधोसिंह की पटरानी कुशाल कंवर भगवान श्री कृष्ण और राधा की अनन्य भक्त थीं। महाराजा ने उनके इस प्रेम को देखते हुए उनकी मृत्यु के बाद बरसाना में गहवर परिक्रमा मार्ग पर राधारानी के प्रसिद्ध मन्दिर के पास इस भव्य मन्दिर का निर्माण कराया। मुख्य मन्दिर में श्यामवर्णी मुरलीधर और राधा रानी की प्रतिमा है। इसके एक तरफ हंसगोपाल जी तथा दूसरी तरफ नृत्य गोपाल जी के भी मन्दिर है।

वर्तमान में यह मन्दिर राजस्थान के देवस्थान विभाग के अधीन है। मन्दिर में पाटोत्सव, जन्माष्टमी, राधाष्टमी, होली आदि पर्वों पर विशेष झांकी और कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। बरसाना में गहवर की परिक्रमा करने वाले भक्त इस मन्दिर में मुरलीधर और राधा रानी के दर्शन करने आवश्य जाते है।

Mandir Shri Kushal Bihari Ji,Barsana,Mathura,Uttar Pradesh on Google Map




कैसे पहुंचें (How To Reach)
नजदीकी हवाई अड्डा आगरा में है। यह मन्दिर से करीब 115 किमी. है। नजदीकी रेलवे स्टेशन कोसी कला है जो कुशाल बिहारी मन्दिर से लगभग 25 किमी. दूरी पर है। यह बनारस का प्रमुख धार्मिक स्थान है और सभी प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ।।

Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts