इस जिनालय पर है मुगल स्थापत्य कला का प्रभाव


श्री दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र सोनागिरी दतिया मध्य प्रदेश (Shri Digamber Jain, Siddha Khetra, Sonagiri, Datia, (M.P.)

मध्यप्रदेश राज्य में ग्वालियर से लगभग 60 किमी और दतिया से 15 किमी दूरी पर दतिया जिला के सोनगिरी ग्राम में यह क्षेत्र पहाडी पर स्थित है।

जैन मतानुसार क्षेत्र पर जैन धर्म के 8 वे तीर्थंकर भगवान श्री 1008 चन्द्रप्रभु का का समवशरण कई बार यहां आया। क्षेत्र से नंग, अनंगकुमार तथा चतुर्थकाल में साढे पांच करोड मुनिराज ने इस क्षेत्र से मोक्ष प्राप्त किया था । यह एक सिद्वक्षेत्र है।

क्षेत्र में 80 जिनालय है जिनमें से 77 जिनालय प्राचीन है तथा 3 नये जिनालय है। क्षेत्र पर 27 जिनालय पहाड की तलहटी पर बने हुये है। क्षेत्र पर बने जिनालयों में से अधिकांश जिनालय पर मुगल स्थापत्य कला का प्रभाव है। यहां जिनालयों को क्रमांक दिये हुये है, मूलनायक 8 वे तीर्थंकर भगवान श्री 1008 चन्द्रप्रभु की खड्गासन प्रतिमा 17 फीट उची है, जो जिनालय क्रमांक 57 में विराजमान है।

क्षेत्र पर भव्य नंदीश्वर द्वीप की भी रचना की हुई है । क्षेत्र में पहाडी पर नारियल कुंड व बाजनी शिला भी प्रसिद्व है । यहां आने वाले भक्त पहाडी की परिक्रमा भी लगते है, जो कि लगभग 3 किमी की है। क्षेत्र में आवास व भोजनालय की व्यवस्था है।

क्षेत्र पर हरवर्ष चेत्रबदी एकम से पंचमी तक विशेष मेला लगता है।

मन्दिर में दर्शन का समय:
मौसम के अनुसार समय परिवर्तित होता रहता है।

Shri Digamber Jain, Siddha Khetra, Sonagiri on Google Map

कैसे पहुंचें (How To Reach)

सड़क: बस स्टेण्ड मध्य प्रदेश— 15 किलोमीटर

रेलवे स्टेशन: सोनागिरी— 3 किलोमीटर
क्षेत्र पर जाने हेतु ग्वालियर में सभी स्थान से सभी साधन उपलब्ध है ।


Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts