यहां है भगवना श्री 1008 पार्श्वनाथ की पदमासन प्रतिमा जो विश्व की सबसे बडी प्रतिमा

गोपाचल पर्वत, ग्वालियर (Gopachal Parvat,Gwalior, Madhya Pradesh)


मध्यप्रदेश राज्य के ग्वालियर शहर के पास ग्वालियर किले में यह क्षेत्र स्थित है। क्षेत्र पर कुल 26 जिनालय है । इन जिनालयों में लगभग 1500 प्रतिमायये है जिन्हें पहाड को तराश कर बनाया गया है । क्षेत्र में भगवान श्री 1008 पाश्र्वनाथ की पदमासन प्रतिमा जो विश्व की सबसे बडी प्रतिमा है, विराजमान है। भगवान श्री 1008 पाश्र्वनाथ की यह प्रतिमा 42 फुट उची तथा 30 फुट चैडी है । क्षेत्र पर बनी प्रतिमायें सं. 1396 से सं. 1536 के मध्य तोमरवंशी राजा वीरमदेव, डूँगरसिंह व कीर्तिसिंह के काल बनाई गई थी। क्षेत्र पर स्थित प्रतिमाओं द्वारा धर्म, मोक्ष, पुनर्जन्म आदि को दर्शाया गया है। इस क्षेत्र की प्रतिमाऐं मूर्तिकला व आध्यात्म की बेजोड कृति है । इसके अतिरिक्त दो जिनालय तलहटी में स्थित है ।

लोकमातानुसार मुगल आक्रांताओं द्वारा कई प्रतिमाओं को खण्डित कर दिया गया परन्तु उनके द्वारा भगवान पाश्र्वनाथ की प्रतिमा पर प्रहार करने का प्रयास किया गया तो उनके हाथों में जान ही नहीं रही और वे डरकर इस स्थान से भाग गये । क्षेत्र पर चैतसुदी 13 एवं कार्तिक बुदी 30, पौषबुदी 11 एवं श्रवाणसुदी सप्तमी व तृतीया को मेला लगता है ।

जैनमतानुसार यह क्षेत्र भगवान पाश्र्वनाथ की देआनास्थली मानी जाती है । साथ ही सुप्रतिष्ठित केवली की निर्वाणस्थली भी इस क्षेत्र को माना गया है । यह क्षेत्र सिद्व क्षेत्र व अतिक्षेय क्षेत्र है । क्षेत्र पर आवास व भोजन की व्यवस्था नहीं है।


मन्दिर में दर्शन का समय:
क्षेत्र खुले मे होने के कारण समय निश्चित नहीं है ।

Gopachal Parvat,Gwalior, Madhya Pradesh on Google Map

कैसे पहुंचें (How To Reach)

सड़क: बस स्टेण्ड ग्वालियर— 5 किलोमीटर

रेलवे स्टेशन: ग्वालियर— 3 किलोमीटर
क्षेत्र पर जाने हेतु ग्वालियर में सभी स्थान से सभी साधन उपलब्ध है ।


Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts