देवी पार्वती ने यहीं किया था लिट्टी तथा वसा का वध


लिंगराज मंदिर, भुवनेश्वर, ओड़िशा Lingaraj temple Bhubaneswar

लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर के प्राचीनतम मंदिरों में शुमार है और इसे लगभग 1400 साल पुराना मंदिर माना जाता है। त्रिभुवनेश्वर को समर्पित इस मंदिर का नया स्वरूप 1100 ईस्वी में बना था, लेकिन इस मंदिर का वर्णन छठी शताब्दी के लेखों में भी आता है। इससे साबित होता है कि यह मंदिर कम से कम 1400 साल पुराना है।

प्रचलित कथाओं के अनुसार लिट्टी और वसा नाम के दो ताकतवर राक्षसों का वध देवी पार्वती ने इसी स्थान पर किया था। संग्राम के बाद उन्हें प्यास लगी, तो शिवजी ने यहां कुआं बनवाया और सभी पवित्र नदियों को योगदान के लिए बुलाया। इस मंदिर के नजदीक ही बिन्दुसागर सरोवर है। यह स्थान पूर्वोत्तर भारत में शैवसम्प्रदाय का प्रमुख केन्द्र रहा है।

लिंगराज मंदिर सुंदर शिल्प और स्थापत्य के लिए मशहूर है। मन्दिर का शिखर सबसे खास है और करीब 180 फीट ऊँचा है। यह भारतीय मन्दिरों के शिखरों के विकास क्रम में प्रारम्भिक अवस्था का है। यह नीचे की ओर सीधा तथा समकोण है और धीरे-धीरे वक्र होता है। मन्दिर की दीवारों पर सुन्दर नक्काशी है।

यहां गणेश, कार्तिकेय तथा गौरी के तीन छोटे मन्दिर भी मुख्य मन्दिर के साथ ही हैं। गौरीमन्दिर में पार्वती की काले पत्थर की बनी प्रतिमा है। मन्दिर की चारों दिशाओं में सिंहों की उकेरी हुई मूर्तियां हैं। यहां सबसे पहले बिन्दु सरोवर में स्नान किया जाता है, फिर क्षेत्रपति अनंत वासुदेव के दर्शन किए जाते हैं। इसके बाद गणेश, गोपालनीदेवी और फिर शिव के वाहन नंदी की पूजा के बाद लिंगराज के दर्शन के लिए मुख्य स्थान में प्रवेश किया जाता है। यहां आठ फीट मोटा तथा करीब एक फीट ऊँचा ग्रेनाइट का स्वयंभू लिंग स्थित है।

यहां हर साल अप्रैल में रथयात्रा आयोजित होती है। मंदिर के निकट ही स्थित बिंदुसागर सरोवर में भारत के हर झरने तथा तालाब का जल संग्रहीत है और माना जाता है कि इसमें नहाने से पाप धुल जाते हैं।

मन्दिर में दर्शन का समय:
मन्दिर प्रात: 6 खुलता है और यहां रात 9 बजे तक दर्शन किए जा सकते हैं। यहां दिन में 12 बजे से 3.30 बजे तक भोग के लिए मंदिर को बंद रखा जाता है।

Lingaraj temple Bhubaneswar on Google Map



कैसे पहुंचें (How To Reach)
सड़क मार्ग: भुवनेश्वर बस स्टैंड मंदिर से 9 किलोमीटर दूर है।

रेल मार्ग: भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन मंदिर से 4.5 किलोमीटर दूर है।

हवाई मार्ग: भुवनेश्वर एयरपोर्ट से से 3 किलोमीटर दूर है।
Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts