शीतला माता मन्दिर,पाली,राजस्थान (Sheetla Mata Temple,Pali,Rajasthan)

इस मन्दिर में राक्षस को पिलाया जाता है पानी
राजस्थान के पाली जिले की बाली तहसील के भाटून्द गांव स्थित शीतला माता के मन्दिर में करीब आधा फुट गहरा गड्डा वैज्ञानिकों के लिए भी पहेली बना हुआ है। यह गड्डा एक घड़े जैसा है और खास बात यह है कि इसमें कितना भी पानी भरा जाए, छलकेगा नहीं।

लोकमान्यता के मुताबिक यह पानी एक राक्षस पीता है। जिसका वध शीतला माता ने करीब 800 साल पहले किया था।

मन्दिर में स्थापित इस घड़े में पानी डालने के लिए साल में दो बार रस्म निभाई जाती है। हर साल शीतला अष्टमी तथा जेष्ठ महीने की पूर्णिमा का यहां मेला लगता है। मेले में आने वाली महिलाएं इसमें पानी डालती है। इस दौरान पानी से भरे सैकड़ों कलश इसमें उड़ेल दिए जाते है। इसके लिए यहां बकायदा लम्बी लाइन लगती है। लेकिन, पानी बाहर नहीं आता। पानी कहां जाता है? यह रहस्य बना हुआ है। शाम को मेला समाप्ति पर पुजारी इसमें दूध डालता है तो यह लबालब हो जाता है और उसके बाद इसे पत्थर से बन्द कर दिया है।

इस संबंध में यहां एक कथा प्रचलित है। उसके अनुसार, करीब आठ सदी पहले इस इलाके में बाबरा नामक राक्षस रहता था। किसी ब्राह्मण यहां शादी होती तो बाबरा दूल्हे को मार डालता था। परेशान ब्राह्मणों ने शीतला माता की पूजा-अर्चना की। शीतला माता ने एक ब्राह्मण को सपने में दर्शन दिए और कहा कि उसकी पुत्री के विवाह के समय बाबरा का अंत हो जाएगा।

ब्राह्मण ने अपनी बेटी की शादी की तो वहां बालिका के रूप में शीतला माता आई और राक्षस को मार दिया। राक्षस ने मरने से पहले अपनी आखिरी इच्छा पूरी करने का वरदान मांगते हुए कहा कि उसे प्यास बहुत लगती है। मरने के बाद उसे पानी मिलता रहे। माता ने उसकी इच्छा पूरी कर दी। तब ये यहां शीतला अष्टमी और जेष्ठ मास की पूर्णिमा का इस गड्डेनुमा घड़े में पानी भरा जाता है। यह परम्परा अनवरत रूप से चल रही है और अब तक कई लाख लीटर पानी इसमें डाला जा चुका है।
मन्दिर में दर्शन का समय:
मन्दिर दिनभर खुला रहता है। शीतला अष्टमी और जेष्ठ मास की पूर्णिमा को यहां मेला लगता है।

Sheetla Mata Temple,Pali,Rajasthan on Google Map

कैसे पहुंचें (How To Reach)
सड़कः पाली विभिन्न शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। यहां से प्राइवेट एवं निजी बस एवं टैक्सी सेवाएं बाली भाटून्द के लिए उपलब्ध है।
रेलमार्गः पाली में रेलवे स्टेशन है।
एयरपोर्ट: निकटवर्ती हवाई अड्डा जोधपुर है जो पाली से करीब 80 किमी. है।
पाली जिला मुख्यालय से भाटून्द की दूरी करीब 20 किमी. है।
Share on Google Plus

About travel.vibrant4.com

हमारा प्रयास है कि हम भारत के हर मंदिर की जानकारी पाठकों तक पहुंचाएं। यदि आपके पास ​किसी मंदिर की जानकारी है या आप इस वेबसाइट पर विज्ञापन देना चाहते हैं, तो आप हमसे vibrant4india@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

0 comments :

Post a comment

Popular Posts